Sunday, December 16, 2018
Home > Chhattisgarh > टीएस सिंहदेव ने धमतरी और बलौदाबाजार की घटना पर जताया कड़ा ऐतराज, बोले- आश्चर्य की बात हैं कि जिम्मेदार अधिकारी के साथ कुछ लोग लैपटॉप लेकर कैसे स्टॉग रुम पहुंच गए..

टीएस सिंहदेव ने धमतरी और बलौदाबाजार की घटना पर जताया कड़ा ऐतराज, बोले- आश्चर्य की बात हैं कि जिम्मेदार अधिकारी के साथ कुछ लोग लैपटॉप लेकर कैसे स्टॉग रुम पहुंच गए..

रायपुर। मतगणना के लिए स्ट्रांग रुम में रखी ईवीएम मशीनों की सुरक्षा और नतीजों के प्रभावित होने को लेकर नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव ने चिंता जाहिर कर रही है। कांग्रेस की भी धमतरी और बलौदाबाजार में हुई घटना को लेकर बनी हुई है। नेता प्रतिपक्ष ने प्रदेश में हो रही ऐसी घटनाओं को लेकर कड़ा ऐतराज जताया है। सिंहदेव ने ऐसे मामलों में राज्य सरकार और प्रशासन की भूमिका पर भी सवालिया निशान लगाया है। उन्होंने इस तरह की शिकायतों पर जांच के साथ कार्रवाई की मांग की है।

टीएस सिंहदेव ने कहा कि निर्वाचन संहिता के अनुसार इलेक्ट्रॉनिक उपकरण स्ट्रांग रूम के आसपास पूर्णत प्रतिबंधित हैं। बावजूद इसके लगातार ऐसी घटनाएं प्रकाश में आ रही हैं जो कि प्रशासनिक कार्यप्रणाली पर सवाल उठा रही है।  27 नवंबर को धमतरी के लाइवलीहुड कॉलेज स्थित स्ट्रांग रूम में एक जिम्मेदार अधिकारी चार लोगों के साथ लैपटॉप व अन्य उपकरण के साथ लगभग 3 घंटे तक नियम विरुद्ध तरीके से रहे। सिंहदेव ने कहा कि यह आश्चर्य एवं अत्यंत खेद का विषय है कि प्रशासनिक व जिम्मेदार अधिकारी के साथ कुछ लोग लैपटॉप इत्यादि लेकर स्ट्रांग रूम में पहुंच गए थे।

इसी प्रकार बलौदा बाजार जिले में भी स्ट्रांग रूम की सुरक्षा को लेकर सवाल उठाया गया है। बलौदाबाजार के स्ट्रांग रूम के पीछे के हिस्से में संदिग्धों की आवाज आई देखी गई। ऐसी शिकायतें प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों से प्राप्त हो रही है। इसी क्रम में 4 नवंबर को बेमेतरा जिला के स्ट्रांग रूम परिसर में बीएसएफ के जवान को लैपटॉप का उपयोग करते पाया गया जबकि इन क्षेत्रों में किसी भी प्रकार के इलेक्ट्रानिक उपकरणों के इस्तेमाल पर पूर्ण प्रतिबंध है। उन्होंने कहा है कि ऐसे दोषी जवान को तत्काल निलंबित कर वहां से हटाया जाए एवं उसके विरुद्ध नियमानुसार कार्रवाई हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *