Monday, November 19, 2018
Home > Chhattisgarh > हिमालयन हाइट्स सुसाइड मामले की जांच, सेक्स रैकेट का बड़ा खुलासा, वेबसाइट से देशभर में परोसी जाती थी लड़कियां, डरा-धमका कर कराते थे गलत काम

हिमालयन हाइट्स सुसाइड मामले की जांच, सेक्स रैकेट का बड़ा खुलासा, वेबसाइट से देशभर में परोसी जाती थी लड़कियां, डरा-धमका कर कराते थे गलत काम

रायपुर। दो दिन पहले देवपुरी के हिमालयन हाइट्स के सातवें फ्लोर से कूदकर जान देने वाली कोलकाता की मिताली उर्फ पूजा हेमब्रम सुसाइड केस की जांच तेजी से चल रही है। जांच के दौरान ही राजधानी में चल रहे देह व्यापार के बड़े रैकेट का खुलासा हुआ है। रैकेट से जुड़ी गिरफ्तार महिला दलाल प्रियंका अग्रवाल (40), अमलेश्वर (दुर्ग) के मनीष चंदवानी (36) तथा रावतपुरा कालोनी भाठागांव निवासी कमल कुमार पठानी (30) के लिंक हाईप्रोफाइल देह व्यापार रैकेट से जुड़े निकले हैं।

ये दलाल लोकेन्टो नामक वेबसाइट पर देशभर की कॉलगर्ल की फोटो अपलोड कर ग्राहकों की डिमांड के अनुसार वॉट्सएप पर कॉलगर्ल की फोटो शेयर कर सौदेबाजी करते थे। जांच में पता चला कि दलालों ने मिताली पर दबाव बनाकर देह व्यापार कराने की कोशिश की थी। गौरतलब है कि राष्ट्रीय अखबार ने मिताली सुसाइड केस से जुड़े इस रैकेट का एक दिन पहले ही राजफाश कर दिया था। रविवार को इस पर पुलिस अफसरों ने मुहर भी लगा दी।

एडिशनल एसपी क्राइम दौलतराम पोर्ते, डीएसपी अभिषेक माहेश्वरी ने रविवार शाम को पुलिस कंट्रोल रूम में पूरे प्रकरण का खुलासा किया। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार दलालों ने वाट्सएप पर चैटिंग कर कोलकाता की मिताली हेमब्रम, पूजा दास और प्रियका हलधर को यहां बुलवाया। तीनों ट्रेन से 22 अक्टूबर को रायपुर पहुंचीं, तब पैसे का लालच देकर उनसे देह व्यापार करने को कहा गया। मिताली ने मना किया तो उस पर दबाव बनाकर धमकाने लगे।

एप में रायपुर के 50 दलाल रजिस्टर्ड

दलालों ने लोकेन्टो वेबसाइट पर एस्काट सर्विस उपलब्ध कराने अपना मोबाइल नंबर रजिस्ट्रर्ड कर रखा है। इस एप में लोकेशन के आधार पर कोलकाता, दिल्ली, मुबंई जैसे महानगरों के अलावा अन्य राज्यों की कॉलगर्ल को पांच से दस हजार रुपये में उपलब्ध कराने का दावा किया जाता है।

साइबर सेल खंगाल रही दलालों की कुंडली

लोकेन्टो एप में रायपुर के अलावा बिलासपुर, दुर्ग, भिलाई, अंबिकापुर, रायगढ़ समेत अन्य शहरों के दलालों के नंबर रजिस्टर्ड मिले हैं, साइबर सेल की टीम ने एप को सर्च कर रायपुर समेत अन्य शहरों के करीब 50 दलालों के रजिस्टर्ड नंबर, नाम-पता हासिल किया है। वेबसाइट की गहन जांच पड़ताल कर दलालों की पूरी कुंडली खंगाली जा रही है।

डरा-धमका कर कराते थे गलत काम

कोलकाता की 19 वर्षीय पीड़िता का आरोप है कि मनीष चंदवानी ने उसे फोन कर रायपुर बुलाया और जब वह यहां पहुंची तो धमकी दी कि तुम यहां तक आ गई हो तो अब देह व्यापार में शामिल होना पड़ेगा, नहीं तो तुम्हें बदनाम कर देंगे। धमकी और बदनामी से डरकर वह मनीष के पिरदा स्थित किराये के मकान में मिताली के साथ रुकी रही। इस दौरान मनीष ने मोबाइल से दोनों का फोटो खींचकर लोकेन्टो तथा अन्य एप पर अपलोड कर दिया। वह ग्राहकों को वाट्सएप पर फोटो भेजकर सौदेबाजी करता था। दलालों की धमकी से तीनों युवतियां इस कदर डरी-सहमी थीं कि किसी को बताने का साहस नहीं कर पा रही थीं। जबरदस्ती देह व्यापार कराने से वे शारीरिक व मानसिक रूप से परेशान हो गईं थी।

महिला दलाल समेत तीनों दलालों को जेल

पीड़िता की शिकायत पर विधानसभा पुलिस ने मनीष चंदवानी और उसके दोस्त कमल कुमार पठानी के खिलाफ धारा 370, 67 ए आइटी एक्ट तथा 3, 4 पीटा एक्ट के तहत अपराध कायम किया। इसी तरह 18 वर्षीय कोलकाता निवासी दूसरी युवती की शिकायत पर महिला दलाल प्रियंका अग्रवाल के खिलाफ राजेंद्र नगर पुलिस ने अपराध कायम कर तीनों को गिरफ्तार कर रविवार को कोर्ट में पेश किया, जहां से जेल भेज दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *