DurgRaipurTop News

डॉ. रमन बोले- कांग्रेस की ऐसी हालत है कि प्रत्याशी नहीं मिला तो दारू ठेकेदार को टिकट दे दिया

कवर्धा.  नगरीय निकाय चुनाव को लेकर 21 दिसंबर को मतदान होना है। भाजपा और कांग्रेस दोनों दलों के प्रमुख सियासी चेहरे प्रचार के मैदान में उतरे हुए हैं। भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कवर्धा के मुहल्लों में आम लोगों को सम्बोधित किया। बुधवार की सुबह 11 बजे वाॅर्ड- 16 स्थित दंतेश्वरी मंदिर में माथा टेककर चुनावी यात्रा की शुरूआत की। इसके बाद उन्होंने कहा कि भूपेश सरकार हर क्षेत्र में विफल हुई है। कांग्रेस सरकार शराबबंदी के दावे करते नहीं थक रही थी। आज उसकी ऐसी स्थिति आ गई है कि वार्ड में प्रत्याशी नहीं मिला, तो अपने दारू ठेकेदार को ही टिकट दे दिया है। उन्होंने कहा कि कवर्धा में 25 करोड़ रुपए से पेयजल की व्यवस्था की है। इससे भविष्य में कभी पेयजल की समस्या नहीं रहेगी।

अकबर ने भी संभाला मोर्चा 
दूसरी तरफ कांग्रेस प्रत्याशियों के कैबिनेट मंत्री मो. अकबर ने प्रचार अभियान की कमान संभाली। वे बुधवार दोपहर 2 बजे पंडरिया पहुंचे। महामाया चौक पंडरिया में नुक्कड़ सभा हुई, जहां मंत्री मो. अकबर ने कांग्रेस प्रत्याशियों के लिए वोट की अपील की। उन्होंने कहा कि नगर के सभी वाॅर्ड्स में लोगों से मिलकर समस्याएं दूर करेंगे। इस बात का विश्वास दिलाते हुए मतदाताओं को कांग्रेस प्रत्याशियों के पक्ष में वोट करने अपील की। घोषणा पत्र का जिक्र करते हुए मंत्री मो. अकबर ने कहा कि छग सरकार शहरों में 10 नई योजनाएं शुरू करने जा रही है। योजनाओं के माध्यम से 100 से अधिक शासकीय सेवाओं जैसे ड्राइविंग लाइसेंस, जाति प्रमाण पत्र, राशनकार्ड को घर तक पहुंचाया जाएगा।

शराबबंदी के मुद्दे पर पूर्व मंत्री चंद्राकर ने भी घेरा

‘पत्र वाहक को पांच पेटी गोवा विदेशी मदिरा देने का का कष्ट करें’  यह बात एक पर्ची पर लिखी थी। पर्ची सोशल मीडिया में वायरल हुई तो सियासी लोगों को सियासत का मौका दे गई। पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर ने यह पर्ची ट्वीट करते हुए आरोप लगाया है कि यह पर्ची कांग्रेस की है। उन्होंने ट्विटर के जरिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और छग प्रभारी पीएल पुनिया को घेरा है। उन्होंने लिखा कि कांग्रेस शराब के सहारे चुनाव जीतना चाहती है। पर्ची वायरल होने के बाद कुरूद के मंडल अध्यक्ष कुलेश्वर चंद्राकर के साथ भाजपा कार्यकर्ता एसडीएम कार्यालय गए। राज्य निर्वाचन आयोग सचिव के नाम एसडीएम को शिकायत पत्र दिया है।

 

Comment here